hindiNewsराष्ट्रीयव्यापार

बाजार में कोहराम, सेंसेक्स 1491 अंक और निफ्टी 16 हजार के नीचे बंद, निवेशकों के 5 लाख करोड़ डूबे

Spread the news

नई दिल्ली- रूस-यूक्रेन युद्ध और क्रूड के दाम में उछाल ने शेयर बाजार को दबाव में ला दिया है। हफ्ते के पहले कारोबारी दिन सेंसेक्स 1491 अंकों की भारी गिरावट के साथ 52,842 अंक पर बंद हुआ। ​एनएसई निफ्टी में भी 382 अंकों की गिरावट दर्ज की गई। एनएसई निफ्टी 16000 हजार के अहम स्तर को तोड़ते हुए 15,863 पर बंद हुआ। बाजार में बड़ी गिरावट आने से निवेशकों के आज 5 लाख करोड़ रुपये डूब गए। सेंसेक्स में शामिल कंपनियों में सबसे बड़ी गिरावट इंडसइंड बैंक के शेयर में देखने को मिली। इंडसइंड बैंक के शेयर 8.11% टूटकर 829 रुपये पर बंद हुए।

निवेशकों के 5 लाख करोड़ रुपये डूबे
बाजार में बड़ी गिरावट आने से सोमवार को ही निवेशकों के करीब 7 लाख करोड़ रुपये का नुकसान उठाना पड़ा। दरअसल, शुक्रवार को जब बाजार बंद हुआ था तो बीएसई पर सूचीबद्ध कंपनियों का पूंजीकरण 2,46,79,421 करोड़ रुपये था। वहीं, सोमवार को बाजार बंद होने पर सूचीबद्ध कंपनियों का पूंजीकरण घटकर करीब 2,41,20,357.90 करोड़ रह गया है। इस तरह निवेशकों को झटके में 5 लाख करोड़ रुपये से अधिक नुकसान उठाना पड़ा।

बाजार में बड़ी गिरावट के पांच प्रमुख कारण
रूस-यूक्रेन के बीच युद्ध 12वें दिन जारी रहना
कच्चा तेल (ब्रेंट क्रूड) 130 डॉलर प्रति बैरल के पार पहुंचना
कच्चे तेल में उछाल से दुनियाभर के बाजारों में महंगाई बढ़ने का खतरा
डॉलर के मुकाबले रुपया में बड़ी गिरावट
अंतरराष्ट्रीय बाजार में कमोडिटीज की बढ़ती कीमत

15,300 अंक तक टूट सकता है निफ्टी
इंडिया इंफोलाइन सिक्योरिटीज के वाइस प्रेसिडेंट अनुज गुप्ता ने बताया कि बाजार ने अपने मनोवैज्ञानिक स्तर को तोड़ दिया है। ऐसे में निफ्टी और नीचे आकर 15,300 अंक तक टूट सकता है। बाजार में गिरावट बढ़ने की सबसे बड़ी वजह क्रूड का 130 डॉलर प्रति बैरल पहुंचना और यूक्रेन संकट गहराना है। ऐसे में निवेशक अभी बिल्कुल खरीदारी न करें। इंतजार करें औैर बाजार को स्टेबल होने दें। उसके बाद अच्छी कंपनियों के शेयर में निवेश करें।

Comment here