राष्ट्रीय

कांग्रेस को बड़ा झटका: सीनियर नेता Ghulam Nabi Azad ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से दिया इस्तीफा

Spread the news

विधानसभा चुनावों में ज्यादातर राज्यों में हार का सामना करने वाली कांग्रेस टूटती जा रही है। वहीं अब पार्टी को एक और बड़ा झटका लगा है। दरअसल, कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता समेत सभी पदों से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने अपना इस्ताीफा सोनिया गांधी को भेज दिया है। बता दें कि गुलाम नबी आजाद यूपीए सरकार के कार्यकाल दौरान कई पदों पर रह चुके हैं। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह सरकार के पहले कार्यकाल में वह संसदीय कार्य मंत्री थे और 27 अक्टूबर 2005 तक इस पद पर रहे, इसके बाद वह जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री बन गए।

कांग्रेस के साथ उनका काफी पुराना नाता रहा है। 1973 में यह भालेसा में ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के सेक्रेटरी बने। 1980 में वह जम्मू-कश्मीर राज्य की यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष बन गए। महाराष्ट्र की वाशिम लोकसभा सीट से 1980 में चुनकर आने के बाद गुलाम नबी आजाद लोकसभा में दाखिल हुए। 1982 में आजाद लॉ मिनिस्ट्री में डिप्टी मिनिस्टर के पद पर चुने गए। इसके बाद वह आठवीं लोकसभा के लिए 1984 में भी चुने गए। 1990 से 1996 तक गुलाम नबी आजाद राज्यसभा के सदस्य रहे। इसके बाद नरसिम्हा राव की सरकार में गुलाम नबी आजाद संसदीय कार्यमंत्री और नागरिक उड्डयम मंत्री रहे थे। 2008 में गुलाम नबी जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री बने और जबकि यूपीए-2 के शासनकाल में इन्हे स्वास्थ्य मंत्रालय का प्रभार दिया गया।

 

Comment here