hindiNewsपंजाब

सोशल मीडिया पर हुई दोस्ती का भयानक अंजाम, नर्स का किया कत्ल, बचाने आई सहेली पर भी किया हमला

Spread the news

सोशल मीडिया के जमाने में आपको कोई व्यक्ति ऐसा मिलेगा जो इसका इस्तेमाल ना करता हो। अकसर इन सोशल प्लेटफॉर्म्स पर हम कई लोगों से मिलते हैं और दोस्ती कर लेते हैं। लेकिन कई बार यही दोस्ती हमारी जिंदगी में भयानक अंजाम लेकर आती है। एक ऐसा ही केस सामने आया है जालंधर से, जहां युवक ने अपनी प्रेमिका का कत्ल कर दिया। दरअसल यह सारा मामला संघा चौक के निकट स्थित पर्ल आई एंड मैटरनिटी होम का है। जहां नर्स का कत्ल कर दिया गया। इतना ही नहीं उसे बचाने आई सहेली पर भी कई वार किए गए जिसके बाद वह गंभीर रूप से घायल हो गई। वहीं इस मामले को कमिश्नरेट पुलिस ने चंद घंटों में ही ट्रेस करते हुए फतेहगढ़ साहिब के रहने वाले 3 हत्यारों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से वारदात में प्रयुक्त किए गए हथियार भी बरामद कर लिए हैं।

इसलिए की हत्या

अभी तक की जांच में सामने आया है कि बलजिंदर कौर का गांव टिब्बी निवासी सतगुरु सिंह के साथ प्रेम प्रसंग था मगर पिछले कुछ समय से दोनों के बीच अनबन चल रही थी जिसके चलते बलजिंदर कौर ने सतगुरु को अनदेखा करना शुरू कर दिया और अपने परिवार के कहने पर कहीं और सगाई कर ली थी। नवंबर माह में बलजिंदर कौर की शादी होना तय हुई थी। इसी बात को लेकर हत्यारा सतगुरु सिंह भड़का हुआ था।

ऐसे दिया वारदात को अंजाम

पुलिस सूत्रों के अनुसार हत्यारों को मालूम था कि यदि वे सीधे रास्ते से अस्पताल में दाखिल होते हैं तो सीसीटीवी में कैद हो जाएंगे इसलिए हत्यारों ने हॉस्टल की छत पर पहुंचने के लिए पीछे वाला रास्ता चुना। हॉस्टल में दाखिल होकर मौका पाकर बलजिंदर कौर की हत्या कर दी तो वहीं बीच-बचाव करने आई ज्योति नामक नर्स पर भी ताबड़तोड़ प्रहार किए गए। पुलिस सूत्रों की मानें तो बलजिंदर कौर की हत्या करते समय ज्योति ने उन्हें देख लिया था क्योंकि सतगुरु सिंह को ज्योति पहचानती थी इसलिए हत्यारों ने ज्योति पर भी जानलेवा हमला किया और उसे मृत समझ फरार हो गए।

फोन ट्रेस कर लगाया आरोपी का पता

वहीं थाना 6 की पुलिस को इस संबंधी सूचना दी गई। सूचना मिलने पर आला पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे और जांच शुरू की। पुलिस ऐसा मानकर चल रही थी कि हत्यारा अस्पताल के अंदर का ही कोई व्यक्ति है क्योंकि अस्पताल का दरवाजा अंदर से लॉक था। पुलिस ने जब मृतका के मोबाइल की कॉल डिटेल निकलवाई तो उस पर लास्ट कॉल सतगुरु सिंह पुत्र करण सिंह निवासी गांव टिब्बी, फतेहगढ़ साहिब की थी। इसके अलावा कॉल उठाया गया तो वारदात के समय सतगुरु तथा दो अन्य मोबाइल फोन की लोकेशन भी वारदात स्थल पर ट्रेस की गई। इसके बाद पुलिस ने आरोपी की लोकेशन ट्रेस करते हुए उसे गांव टिब्बी फतेहगढ़ साहिब से गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर वारदात में शामिल उसके 2 अन्य साथियों को भी काबू कर लिया। पुलिस अधिकारी शुक्रवार को प्रैस कान्फ्रैंस के दौरान इस पूरे मामले का खुलासा करेंगे।

Comment here